Nanhe Shravak >>

Nanhe Shravak

                                                           About the Show 


विश्व के प्रसिद्ध और पूर्णतः जैन धर्म की दिगंबर आमनाओं को समर्पित जिनवाणी चैनल विगत लगभग 12 वर्षों से समाज में धर्म प्रभावना करने के लिए प्रयासरत है। धर्म प्रभावना के अग्रिम चरण में जिनवाणी चैनल नया शो 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' प्रस्तुत कर रहा है। भावी पीढ़ी में जैन धर्म के संस्कारों का बीजारोपण करने के निमित्त से आयोजित इस कार्यक्रम के अंतर्गत जहां एक ओर प्रात:काल की बेला में हम 08 से 16 वर्ष के नन्हें श्रावकों को अभिषेक-शांतिधारा करने के लिए प्रेरित करेंगे, तो वहीं दूसरी ओर संध्याकालीन बेला में नन्हीं श्राविकाओं को मंगलगान एवं मंगल आरती के माध्यम से स्वयं में धर्म के मर्म को आत्मसात करने के लिए प्रेरित करेंगे।


                                                                             उद्देश्य -


'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' शो का मुख्य उद्देश्य जैन समाज की भावी पीढ़ी द्वारा जैन धर्म की सांस्कृतिक धरोहर को वर्षों तक जीवंत करवाना है। जिनवाणी चैनल आशा करता है कि इस कार्यक्रम के माध्यम से देश भर के नन्हें श्रावक जैन धर्म के पूजन पाठन में रुचिपूर्वक सहभागिता कर संस्कारों को आत्मसात करेंगे।


                                                               नियम एवं शर्ते - 


- 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' एक धार्मिक कार्यक्रम है, जहां 08 से 16 वर्ष के बालक अभिषेक-शांतिधारा और बालिकाएँ संध्याकालीन आरती करेंगी

- यह कार्यक्रम सप्ताह में 2 बार प्रसारित किया जाएगा (रविवार और बुधवार - सुबह 10 बजे)

(कार्यक्रम समिति के निर्णयानुसार कार्यक्रम की समयावधि एवं प्रसारण आवर्ती को कम या बिना सूचना के बदला जा सकता है।)

- 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' कार्यक्रम से संदर्भित किसी भी वाद विवाद की स्थिति में इसका न्यायायिक क्षेत्र जिला आगरा रहेगा।

 

कार्यक्रम विवरण -

- 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' कार्यक्रम के अंतर्गत 8 से 16 वर्ष के बालक और बालिकाएँ धर्म पूजन के अंतर्गत अभिषेक - शांतिधारा और आरती करने के निमित्त से सहभागिता करेंगे।

- कार्यक्रम हेतु आयोजन स्थल आगरा सहित देश भर के विभिन्न दिगंबर जैन मंदिर रहेंगे।

 

प्रसारण -

- 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' कार्यक्रम का प्रसारण और प्रचार जिनवाणी चैनल सहित सोशल मीडिया नेटवर्क जैसे - यू ट्यूब, फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर किया जाएगा।

 

प्रतिभागिता -

- 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' कार्यक्रम में सहभागिता करने के लिए प्रतिभागी को जिनवाणी चैनल की वैबसाइट www.jinvanichannel.com पर क्लिक करना होगा।

- वैबसाइट पर नन्हें श्रावक पेज पर स्थित फॉर्म को भरकर इच्छुक प्रतिभागी खुद को रजिस्टर्ड कर सकते हैं।

- इससे संबन्धित अधिक जानकारी के लिए इच्छुक प्रतिभागी हमारे व्हाट्स एप्प नंबर 6397999749 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

पात्रता -

- 'नन्हें श्रावक - जिन शासन की धर्म ध्वजा लहराने' कार्यक्रम में सहभागिता करने के लिए बालक की उम्र 8 से 16 वर्ष और बालिकाओं की उम्र 5 से 16 वर्ष तक होना अनिवार्य है।

- प्रतिभागियों का पूर्णतः स्वस्थ होना अनिवार्य है।

- प्रतिभागी भारतीय नागरिक या एनआरआई भी हो सकता है।

 

चयन प्रक्रिया -  

- प्रतिभागियों को उनके द्वारा लिए गए धर्म नियमों के आधार पर सिलैक्ट किया जाएगा। जैसे - प्रतिदिन मंदिर जाकर देवदर्शन करना, रात्रि भोजन का त्याग आदि।

- चयनित प्रतिभागियों को जिनवाणी चैनल द्वारा धर्मयात्रा हेतु धार्मिक स्थल पर लेकर जाएगा।

 

वैधता -

- पैन कार्ड, आधार कार्ड या सरकार द्वारा वैध कोई आईडी/ दस्तावेज़। भारत के वैध आईडी प्रमाण के रूप में जहां प्रतिभागी की नाम, उम्र और पता स्पष्ट रूप से अंकित हो।

आयोजन समिति के अधिकार - 

- आयोजक, ऑडिशन / कार्यक्रम / प्रतियोगिता हेतु आ रहे वीडियो अथवा उसके अंश को, कार्यक्रम के प्रचार प्रसार के लिए जिनवाणी चैनल कभी भी कहीं भी प्रयोग कर सकता है। 

- किसी भी टी.वी. चैनल, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, अखबार/ पत्रिका में उपयोग के अनुरूप उस वीडियो के अंश को काटने / संपादित करने / बदलने प्रचारित-प्रसारित करने हेतु स्वतंत्र रहेगा। 

 

- प्रतिभागियों को आयोजक के पूर्व अनुमोदना के बिना किसी भी आंतरिक जानकारी या प्रतियोगिता से संबन्धित कोई अन्य जानकारी नहीं दी जाएगी।

 

- आयोजन समिति अपने एकमात्र और पूर्ण विवेक पर किसी भी समय प्रतियोगिता के नियमों और शर्तों में संशोधन और अद्यतन करने के लिए अंतिम अधिकार रखती है।

 

- आयोजन समिति किसी भी तबाही, युद्ध, नागरिक या सैन्य अशांति, ईश्वर के कार्य या किसी भी लागू कानून या विनियमन के वास्तविक या प्रत्याशित उल्लंघन के नोटिस के साथ प्रतियोगिता या किसी भी शर्त को रद्द करने या उसमें संशोधन करने का अधिकार सुरक्षित रखती है।

 

- प्रतियोगिता को वैधानिक रूप से अधिनियम, 1957 सहित भारत के कानूनों द्वारा नियंत्रित किया जाता है और प्रतियोगिता के संबंध में सभी विवाद या ये शर्तें आगरा के न्यायालयों के विशेष क्षेत्राधिकार के अधीन होंगी।

 

- इंटरनेट पर सूचना का प्रसारण पूरी तरह से सुरक्षित नहीं होने के कारण, आयोजक प्रतोयोगी व्यक्तिगत डाटा की सुरक्षा करने का प्रयास करता है लेकिन फिर भी आयोजन समिति प्रतिभागी के डाटा की सुरक्षा की गारंटी नहीं दे सकती, यह प्रतिभागी के स्वयं के जोखिम पर रहेगा।

 

- आयोजन समिति, प्रतिभागी द्वारा कार्यक्रम में शामिल होने हेतु आगमन के दौरान किसी भी नुकसान, शारीरिक, मानसिक क्षति, शारीरिक चोट अथवा किसी बीमारी होने की स्थिति में किसी भी नुकसान के लिए ज़िम्मेदारी नहीं मानी जाएगी।

 

( सर्वाधिकार सुरक्षित - जिनवाणी चैनल )